New Series: China in South Asia

This week on SAV, we explore China's strategic and economic goals in South Asia.

Read here

भारत-नेपाल

दक्षिण एशिया में चीन: नेपाल से बढ़ती निकटता

१९५५ में औपचारिक राजनयिक संबंध स्थापित करने के बाद से, नेपाल और चीन के संबंध व्यापक रूप से मित्रतापूर्ण रहे हैं। पर इन संबंधों को बल […]

October 20, 2017 - Views 0

Most Popular

जलवायु परिवर्तन

जलवायु परिवर्तन: दक्षिण एशियाई स्थिरता को सीधा खतरा

राजनीतिक दुनिया अक्सर युद्ध और शांति के सवालों से घिरी रहती है। नीति निर्माता क्रम, शक्ति संतुलन और आर्थिक परस्पर-निर्भरता जैसी अमूर्त अवधारणाओं में व्यस्त […]

August 25, 2017 - Views 0
BRICS

पाकिस्तान की असली चुनौती

विदेश नीति के उद्देश्यों को प्राप्त करने के लिए आतंकवादी समूहों को प्रॉक्सी के तौर पर उपयोग करना पाकिस्तान के लिए कोई नई बात नहीं है। […]

September 22, 2017 - Views 0

दक्षिण एशिया से अलकायदा गायब नहीं हुआ है

जहाँ इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड सीरिया ( या दाएश) इराक में ज़मीन खो रहा है और सीरिया में सिमटता जा रहा है, वहीं अफगानिस्तान और […]

August 31, 2017 - Views 0

भारत की एनएसजी अभ्यर्थिता में आश्चर्यजनक मोड़

परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी) में  जगह बनाने के लिए भारतीय प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी का प्रयास एक बार फिर विफल रहा जब जून में हुई […]

October 12, 2017 - Views 0

विभेदक रोहिंग्या नीति : भारत के मूल्यों के विरुद्ध

** इस श्रृंखला का दूसरा भाग यहां पढ़ें। ** म्यांमार के रखाइन प्रांत से आने वाले रोहिंग्या मुसलमान, जनसंख्या लगभग दस लाख, मूल रूप से […]

September 18, 2017 - Views 0
Rohingya line

भारत की शरणार्थी नीति विवेकाधीन है भेदभावपूर्ण नहीं

** इस श्रृंखला का पहले भाग यहां पढ़ें। ** भारत की शरणार्थी नीतियों की जांच तब शुरू हुई जब सरकार ने ४०००० रोहिंग्या को निर्वासित […]

September 28, 2017 - Views 0
डोकलाम

डोकलाम के मद्देनजर: भारत की चुनौतियाँ

कूटनीति कोई कुल-जोड़ शून्य खेल (zero-sum game) नहीं है। इसमें अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने को लिए व्यावहारिकता और आदर्शवाद के साथ साथ संयम और […]

September 7, 2017 - Views 0